Read more



आचार्य चाणक्य अपने समय के सबसे महान विद्वान माने जाते थे। वह कूटनीति और अर्थशास्त्र के उस्ताद थे। वे नैतिकता के भी विशेषज्ञ थे। उन्होंने अपनी चाणक्य नीति से जीवन के पहलुओं के बारे में ज्ञान प्रदान किया है। उनके द्वारा बताए गए लाइफ मैनेजमेंट टिप्स आज के युग में भी कारगर साबित हो रहे हैं। जीवन की समस्याओं का समाधान कहने का यह तरीका प्रशंसनीय है। उनके बताए गए टिप्स को अपनाने से आज भी लोग अपने जीवन की कई समस्याओं से छुटकारा पा लेते हैं।

आचार्य चाणक्य द्वारा लिखे गए श्लोकों में भी नारी के कुछ विशेष गुणों का उल्लेख मिलता है। इसमें उन्होंने चार चीजों का जिक्र किया है जिसमें महिलाएं पुरुषों से आगे हैं। आज हम विस्तार से जानेंगे कि वे काम क्या हैं या चीजें क्या हैं। इससे पहले हमें आचार्य चाणक्य के उस श्लोक को देखना चाहिए।

श्लोक: स्त्रियाँ चौगुनी, चौगुनी होती हैं। सहसम् षद्गुणम चैव कमोस्तगुण उच्च्यत।

दोहरी भूख

आचार्य चाणक्य के अनुसार महिलाएं पुरुषों से ज्यादा खाती हैं। ‘स्वर्णम दिव्गुण अहरो’ श्लोक में ‘भूख’ का अर्थ है। आचार्य चाणक्य इसमें कहते हैं कि महिलाओं को पुरुषों की तुलना में दोगुनी भूख लगती है। चाणक्य ने इसका कारण भी बताया है। कि महिलाएं पुरुषों से ज्यादा मेहनत करती हैं। ऐसे में उन्हें उनसे ज्यादा ताकत की जरूरत होती है। यही कारण है कि महिलाओं को अधिक खाने की जरूरत होती है।

चार बहुत बुद्धिमान

जब बुद्धि की बात आती है, तो महिलाएं पुरुषों की तुलना में तेज होती हैं। आचार्य चाणक्य भी इससे सहमत थे। उनका मानना ​​था कि महिलाएं पुरुषों से ज्यादा स्मार्ट होती हैं। जीवन में जब भी कोई समस्या आती है तो वह अपनी सूझबूझ से उसका समाधान करता है। वे जीवन की हर समस्या के बिना भय का सामना करते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि उनका दिमाग इतनी तेजी से चलता है कि वे समस्या को बड़ा होने से पहले ही खत्म कर देते हैं।

बहादुर महिला

साहस और वीरता के मामले में महिलाएं पुरुषों से आगे हैं। शरीर के बालों के मामले में वे भले ही पुरुषों से कमतर हों, लेकिन जब निडरता और साहस दिखाने की बात आती है, तो वे सबसे पहले आते हैं। यह उनका साहस ही है जो उन्हें जीवन की सबसे बड़ी समस्याओं से लड़ने के लिए प्रेरित करता है। यही कारण है कि आचार्य चाणक्य ने भी अपनी नीति में कहा है कि महिलाएं पुरुषों की तुलना में छह गुना बहादुर होती हैं।

8 गुना कामुकता

आचार्य चाणक्य के अनुसार कामुकता के मामले में भी महिलाएं पुरुषों से आगे हैं। वे बताते हैं कि महिलाओं में पुरुषों की तुलना में आठ गुना अधिक कामुकता होती है। इस मामले में वे पुरुषों को भी पीछे छोड़ देती हैं।
ऐसे ही और मज़ेदार लेख के लिए मेरे Facebook Page को लाइक करना न भूलें।