Read more



शरीर को स्वस्थ रखने के लिए हड्डियों का मजबूत होना बहुत जरूरी है। अगर हड्डियां कमजोर हैं तो जाहिर तौर पर इससे बहुत सारी समस्याएं हो सकती हैं। खड़े होने, खड़े होने और चलने में कठिनाई हो सकती है। अगर हड्डियां मजबूत रहती हैं तो जोड़ों के दर्द, कमर दर्द आदि का खतरा भी कम हो जाता है। हालांकि आज की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में लोग अपनी सेहत पर ज्यादा ध्यान नहीं देते हैं और आगे चलकर उन्हें हड्डियों के कमजोर होने सहित कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। ऑस्टियोपोरोसिस एक गंभीर हड्डी रोग है जिसमें हड्डियां इतनी कमजोर हो जाती हैं कि उन्हें अप्रत्याशित फ्रैक्चर का खतरा होता है। दरअसल, यह बीमारी हड्डियों के घनत्व में कमी का कारण बनती है, जिससे उनके टूटने की संभावना अधिक होती है। लेकिन हड्डियों के कमजोर होने की समस्या को भी दूर किया जा सकता है। इसके लिए कुछ आदतों में बदलाव की जरूरत है आइए जानते हैं इन आदतों के बारे में…



शरीर को स्वस्थ रखने के लिए नियमित रूप से व्यायाम करना बहुत जरूरी है, लेकिन आजकल ज्यादातर लोग बैठ जाते हैं, चाहे वह ऑफिस में हो या घर पर, इसका असर हड्डियों पर भी पड़ता है। बार-बार बैठने और व्यायाम न करने से हड्डियां कमजोर और कमजोर होने लगती हैं। इसलिए जरूरी है कि इस आदत को बदलें और नियमित रूप से व्यायाम करें।


आजकल लोग वजन घटाने पर खास ध्यान दे रहे हैं। यह भी अच्छा है, लेकिन सामान्य वजन रखना बहुत जरूरी है, क्योंकि अगर आपने बहुत अधिक वजन घटाया है, तो इसका हड्डियों पर बुरा प्रभाव पड़ता है। अधिक वजन होने से ऑस्टियोपोरोसिस का खतरा भी बढ़ जाता है। इसलिए यदि आपका वजन अधिक है, तो इसे कम करें, लेकिन सामान्य से अधिक नहीं। इसके लिए आप डॉक्टर से सलाह ले सकते हैं।

क्या आप हमेशा धूप सेंकने से बचते हैं और छाया में रहना पसंद करते हैं? तो जान लें कि यह आदत आपकी हड्डियों को कमजोर कर सकती है। दरअसल, विटामिन-डी की कमी से हड्डियां कमजोर हो जाती हैं और यह विटामिन-डी आपको सूरज की रोशनी से मिल सकता है। इसलिए अपनी हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए जरूरी है कि आप नियमित रूप से सुबह 15 से 20 मिनट धूप लें।



बहुत से लोगों को अपने खाने में नमक लेने की आदत होती है यानि वो बहुत ज्यादा नमक का सेवन करते हैं। अगर आप ऐसा करते हैं तो सावधान हो जाएं, क्योंकि ज्यादा नमक के सेवन से हड्डियों में कैल्शियम की मात्रा कम हो जाती है, जिससे हड्डियां कमजोर हो जाती हैं और उनके टूटने का खतरा बढ़ जाता है। तो जल्द से जल्द इस आदत को बदलें।