Read more



काले चने सेहत के लिहाज से काफी फायदेमंद माने जाते हैं । इसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन होता है। इसके अलावा पोषक तत्वों में आयरन, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, विटामिन आदि पाए जाते हैं। नियमित रूप से छोले खाने से आपकी आधी बीमारियां दूर हो सकती हैं। अंकुरित होने के बाद छोले खाने से इसके गुणों में वृद्धि होती है। खून की कमी को दूर करने के अलावा चना आपके शरीर की थकान को दूर करता है और आपके दिमाग को भी तेज करता है। इतना ही नहीं नियमित रूप से छोले खाने से आपका पाचन तंत्र भी स्वस्थ रहता है। चने के स्वास्थ्य लाभों और उन्हें खाने के तरीके के बारे में यहाँ और जानें।
छोले का सेवन कैसे करें

छोले को सुबह से शाम तक पानी में भिगो दें। रात को छानकर छोले को कपड़े में लपेट लें। सुबह तक छोले फट जाएंगे। रोज सुबह खाली पेट एक मुट्ठी अंकुरित चने खाएं। खाने के बाद करीब एक घंटे तक कुछ और न खाएं।
दुर्बलता को दूर करता है

अगर आपका शरीर कमजोर है या आप अपने शरीर में लगातार थकान महसूस करते हैं तो आपको नियमित रूप से अंकुरित चने का सेवन करना चाहिए। यह ऊर्जा का बेहतरीन स्रोत है। चना खाने से आपकी कमजोरी जल्दी दूर होती है।
वजन नियंत्रित करता है

जो लोग अपना वजन कम करना चाहते हैं उनके लिए भी काले चने फायदेमंद माने जाते हैं क्योंकि यह प्रोटीन और फाइबर का बेहतरीन स्रोत है। वजन कम करने वाले लोगों को इसे अपनी डाइट में शामिल करने से काफी मदद मिलती है।
एनीमिया को दूर करता है

नियमित रूप से छोले खाने से आप शरीर में एनीमिया को जल्दी खत्म कर सकते हैं। एनीमिया के मरीजों के लिए अंकुरित चने फायदेमंद होते हैं। शरीर में खून की कमी को दूर करने से भी स्वास्थ्य संबंधी सभी समस्याएं नियंत्रण में रहती हैं।
पाचन तंत्र के लिए उपयुक्त

जिन लोगों को पाचन संबंधी सभी समस्याएं हैं, उनके लिए भी काले चने काफी फायदेमंद माने जाते हैं। फाइबर से भरपूर होने के कारण यह आपके पाचन तंत्र के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। इसके अलावा काले चने कब्ज की समस्या को दूर करते हैं।
हड्डियों की मजबूती के लिए फायदेमंद

चूंकि यह कैल्शियम, आयरन, कार्बोहाइड्रेट और विटामिन से भरपूर होता है, इसलिए कमजोर हड्डियों या हड्डियों से संबंधित समस्याओं वाले लोगों के लिए छोले बहुत अच्छे माने जाते हैं।